वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की लम्बाई चौड़ाई कितनी होनी चाहिए

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की लम्बाई चौड़ाई कितनी होनी चाहिए – वास्तु शास्त्र का महत्व आज भी उतना ही है. जितना प्राचीन काल में था. प्राचीन काल में भी वास्तु शास्त्र को माना जाता था. आज के समय में भी काफी लोग वास्तु शास्त्र को मानते हैं. ऐसा माना जाता हैं की वास्तु शास्त्र के अनुसार हमारे घर का निर्माण करवाया जाए. तो हमारा जीवन सुखमय हो जाता हैं.

और अगर वास्तु शास्त्र के हिसाब से घर का निर्माण नहीं करवाया हैं. तो घर के सदस्य को दुखो का सामना करना पड़ता हैं. इसलिए लोग जब भी घर का निर्माण करवाते हैं. तब वास्तु शास्त्र एक्सपर्ट की सलाह जरुर लेते हैं. और उनके कहे अनुसार ही घर का निर्माण करवाते हैं.

Vastu-shastr-ke-anusar-ghar-ki-lambai-chaudai (1)

आज हम वास्तु शास्त्र से संबंधित ऐसी ही कुछ बातों पर इस आर्टिकल के माध्यम से चर्चा करने वाले हैं. इसलिए हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की लम्बाई चौड़ाई कितनी होनी चाहिए. इसके अलावा जमीन या प्लाट खरीदने से पहले ध्यान रखने वाले महत्वपूर्ण वास्तु शास्त्र के बिंदु के बारे में भी जानकारी प्रदान करेगे.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की लम्बाई चौड़ाई कितनी होनी चाहिए

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की लम्बाई चौड़ाई अनुपात 2:1 से अधिक नहीं होनी चाहिए. आपके घर की लम्बाई चौड़ाई अनुपात 2:1 से कम ही होनी चाहिए. इससे अधिक लम्बाई चौड़ाई वास्तु शास्त्र के अनुसार सही नहीं मानी जाती हैं.

Vastu-shastr-ke-anusar-ghar-ki-lambai-chaudai (2)

नारियल का मुख कैसे पहचाने / पूजा के बाद नारियल का क्या करें

वास्तु शास्त्र के महत्वपूर्ण बिंदु जमीन या प्लाट खरीदने से पहले ध्यान रखने वाले

जमीन या प्लाट खरीदने से पहले ध्यान रखने वाले महत्वपूर्ण वास्तु शास्त्र के कुछ बिंदु हमने नीचे बताए हैं.

  • जमीन या प्लाट खरीदते समय इस बात का ध्यान रखे की आपके जमीन के आसपास कोई मंदिर हैं. तो प्लाट या जमीन मंदिर के पीछे ना खरीदे. मंदिर के दाए, बाए या सामने की साइड आप जमीन या प्लाट खरीद सकते हैं.
  • अगर आपकी जमीन या प्लाट मंदिर के पास में है. तो अतिउत्तम माना जाता हैं. अगर मंदिर से थोडा दूर प्लाट है. तो मध्यम उत्तम माना जाता हैं. और जमीन तथा प्लाट के आसपास मंदिर नहीं है. तो निम्न माना जाता हैं.
  • अगर आप जमीन या प्लाट खरीद रहे है. तो इस बात का ध्यान रखे की जमीन त्रिकोणीय आकार में न हो. त्रिकोणीय आकार जमीन वास्तु शास्त्र के हिसाब से अशुभ मानी जाती हैं.
  • आप जिस जमीन को खरीदना चाहते हैं. उस जमीन के सामने से अगर तीन रास्ते निकल रहे है. तो ऐसी जमीन खरीदने से बचना चाहिए.
  • अगर आप कोई जमीन और प्लाट खरीद रहे है. और वह पहाड़ी क्षेत्र है. तो पहाड़ के उत्तर साइड में जमीन खरीदनी उत्तम माना जाता हैं.
  • आपकी जमीन के सामने कोई भी खंभा न हो. ऐसी जमीन खरीदनी चाहिए.
  • आप जो भी जमीन खरीदते है ध्यान रखे वर्गाकार हो. अर्थात जमीन की लम्बाई और चौड़ाई एक समान होनी चाहिए. और जमीन के कोणे समकोणीय होने चाहिए. वर्गाकार जमीन सबसे अच्छी और बेहतरीन मानी जाती हैं.
  • अगर आप चाहे तो आयातकार जमीन भी खरीद सकते हैं. जिसकी चौड़ाई एक समान और कोने 90 डिग्री हो ऐसी जमीन आयातकार जमीन होती हैं. अगर आप ऐसी जमीन भी खरीदते हैं. तो आपके लिए शुभ हैं.
  • जमीन या प्लाट हमेशा शहर के पूर्व, पश्चिम या उत्तर दिशा में खरीदे. यह दिशा शुभ मानी जाती हैं.

तो जमीन खरीदने से पहले वास्तु शास्त्र के इन सभी बिंदुओ को ध्यान में रखके जमीन या प्लाट खरीदे. ऐसी जमीन पर अगर आप घर या अपने बिजनेस के लिए ऑफिस या फेक्ट्री आदि का निर्माण करवाते हैं. तो यह जमीन शुभ फलदायी देने वाली होती हैं.

Vastu-shastr-ke-anusar-ghar-ki-lambai-chaudai (3)

प्रसिद्ध होने के उपाय – मानसम्मान के लिए मंत्र 

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है की वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की लम्बाई चौड़ाई कितनी होनी चाहिए. इसके अलावा जमीन या प्लाट खरीदने से पहले ध्यान रखने वाले महत्वपूर्ण वास्तु शास्त्र के बिंदु बताए हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ है. तो आगे जरुर शेयर करे.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की लम्बाई चौड़ाई कितनी होनी चाहिए आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

7 घर में धन बढ़ाने के उपाय – सम्पूर्ण जानकरी

नींद में सांस लेने की तकनीकें जाने – सम्पूर्ण जानकरी 

सवारी बुलाने का मंत्र और साधना विधि – सम्पूर्ण जानकारी 

Leave a Comment