सुहागन स्त्री को बाल कब धोना चाहिए / अमावस्या को बाल धोना चाहिए या नहीं

सुहागन स्त्री को बाल कब धोना चाहिए / अमावस्या को बाल धोना चाहिए या नहीं – हमारे हिंदू धर्म में प्राचीनकाल से ही कुछ ऐसी परंपराएं चली आ रही हैं. जिसका आज के समय में भी पालन किया जाता हैं. कुछ लोग इन सभी परंपरा को वहम मानते हैं. तो कुछ लोग परंपरा का पालन करते है. और इसे सही मानते हैं.

Suhagan-stri-ko-bal-kab-dhona-chahie-amawasya-ya-nhi (1)

इन सभी परंपरा के पीछे कुछ ना कुछ कारण छिपे होते है. इस वजह से आज भी परंपरा का पालन किया जाता हैं. लेकिन एक परंपरा ऐसी है. जो महिलाओं के बाल धोने के बारे में हैं. इस परंपरा पर आज हम आपके साथ इस आर्टिकल के माध्यम से चर्चा करेगे.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले हैं की सुहागन स्त्री को बाल कब धोना चाहिए तथा अमावस्या को बाल धोना चाहिए या नहीं. इसके अलावा इस टॉपिक से संबंधित अन्य और भी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं. यह सभी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

सुहागन स्त्री को बाल कब धोना चाहिए

सुहागन स्त्री को बाल सोमवार, बुधवार तथा गुरुवार के दिन बाल नहीं धोने चाहिए. इसके अलावा किसी भी दिन जैसे की मंगलवार, शुक्रवार, शनिवार और रविवार के दिन बाल धो सकती हैं. सुहागन स्त्री अगर इस दिन बाल धोती हैं. तो उनके जीवन में कोई भी बाधा या अड़चन नहीं आती हैं.

लेकिन सोमवार, बुधवार और गुरुवार के दिन अगर सुहागन स्त्री बाल धोती हैं. तो उनके जीवन में काफी सारी अड़चने आती हैं.

ऐसा माना जाता है की सोमवार के दिन सुहागन स्त्री अगर बाल धोती है. तो बेटी पर भार बना रहता हैं. बेटी के जीवन कोई छोटी-मोटी परेशानी आ सकती हैं. घर की बेटी या बहु पर कर्ज का भार बढ़ सकता हैं.

इसके अलावा सोमवार के दिन बाल धोने से आर्थिक स्थिति में भी कमजोरी आती हैं. इससे धन की कमी होने लगती है और फ़ालतू के खर्च बढ़ जाते हैं. इसलिए सोमवार के दिन स्त्री को बाल धोने से बचना चाहिए.

अगर बुधवार के दिन सुहागन स्त्री बाल धोती है. उनके भाई पर कोई भी आफत आ सकती हैं. खास करके लडकियों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए. की बुधवार के दिन बाल न धोए.

ऐसा करके आप अपने भाई को मुसीबत में डाल सकते हैं. बुधवार के दिन बाल धोने से आपके भाई की आर्थिक स्थिति कमजोर हो सकती है. उनकी नौकरी या व्यापार पर बुरा असर पड सकता हैं. इसलिए स्त्री को बुधवार के दिन बाल नहीं धोने चाहिए.

अगर गुरुवार के दिन सुहागन स्त्री बाल धोती है. तो पति की उम्र कम होती हैं. इसके अलावा गुरुवार के दिन बाल धोने से पति के परेशानियों में भी बढ़ोतरी होती हैं. गुरुवार के दिन महिला अगर बाल धोती है. तो उनका गुरु कमजोर होता हैं. इसका असर बच्चों और पति पर पड़ता हैं. इसके अलावा गुरुवार के दिन बाल धोने से घर की आर्थिक स्थिति भी कमजोर होती हैं.

Suhagan-stri-ko-bal-kab-dhona-chahie-amawasya-ya-nhi (2)

अमावस्या को बाल धोना चाहिए या नहीं

नहीं, अमावस्या के दिन बाल भी नहीं धोने चाहिए और अमावस्या के दिन बाल, नाख़ून काटने से भी बचना चाहिए.

शादी के लिए तांत्रिक उपाय जाने – 100 प्रतिशत कारगर उपाय

व्रत में बाल धोना चाहिए कि नहीं

जी हां, आप व्रत में बाल धो सकते हैं. लेकिन आपका व्रत सोमवार, बुधवार या गुरुवार के दिन का है. तो व्रत में बाल नहीं धोने चाहिए. इसके अलावा आप किसी भी दिन बाल धो सकते हैं.

कपूर जलाने के नुकसान – घर में कपूर जलाने से क्या होता है

पूर्णिमा के दिन बाल धोना चाहिए या नहीं

जी हां, आप पूर्णिमा के दिन बाल धो सकते हैं. लेकिन पूर्णिमा के दिन अगर सोमवार. बुधवार या गुरुवार का दिन लग रहा हैं. तो इस दिन बाल न धोए. इस दिन बाल धोने से आप पर भार बना रहता हैं. और परिवार के कोई भी संकट आदि आ सकता हैं.

Suhagan-stri-ko-bal-kab-dhona-chahie-amawasya-ya-nhi (3)

शादी के गुण कैसे देखें – गुण का कैल्कुलेशन कैसे करे

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है की सुहागन स्त्री को बाल कब धोना चाहिए तथा अमावस्या को बाल धोना चाहिए या नहीं. इसके अलावा इस टॉपिक से संबंधित अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ है. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि यह महत्वपूर्ण जानकारी अन्य लोगो तक भी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह सुहागन स्त्री को बाल कब धोना चाहिए / अमावस्या को बाल धोना चाहिए या नहीं आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

शादी के लिए क्या जरूरी है – सम्पूर्ण जानकारी

क्या आपकी शादी हो चुकी है नहीं तो जाने क्या है बाधाए 

पुत्र प्राप्ति के लिए नारियल का बीज कब खाना चाहिए / नारियल का फूल खाने से लड़का होता है

1 thought on “सुहागन स्त्री को बाल कब धोना चाहिए / अमावस्या को बाल धोना चाहिए या नहीं”

Leave a Comment