मरने के बाद आत्मा कितने दिन घर में रहती है / मरने के बाद जलाया क्यों जाता है

मरने के बाद आत्मा कितने दिन घर में रहती है / मरने के बाद जलाया क्यों जाता है – शरीर नश्वर है. और हम सभी को एक ना एक दिन यह शरीर छोड़कर जाना ही हैं. लेकिन शरीर में मौजूद आत्मा हमेशा अमर रहती हैं. आत्मा एक शरीर छोड़कर दुसरे शरीर या योनि में प्रवेश करती हैं. इस बारे में तो हम सभी लोग जानते ही हैं.

Marne-ke-bad-aatma-kitne-din-ghar-me-rhti-h-13-jlaya-kyo (3)

लेकिन मरने के बाद आत्मा कितने दिन घर में रहती है. इसकी जानकारी बहुत ही कम लोगो को होती हैं. लेकिन आज हम इस आर्टिकल में इस बारे में चर्चा करेगे. इसलिए हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की मरने के बाद आत्मा कितने दिन घर में रहती है तथा 13 दिन के बाद आत्मा कहां जाती है. इसके अलावा इस टॉपिक से संबंधित अन्य और भी जानकारी प्रदान करेगे.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

मरने के बाद आत्मा कितने दिन घर में रहती है

मरने के बाद आत्मा परिवार वालो के मोह में पड़ी होती हैं. इसलिए आत्मा परिवार वालो के मोह के कारण 13 दिन तक घर को नहीं छोडती हैं. जब घर वाले दस दिन होने के पश्चात पिंडदान आदि करते हैं. तब जाकर धीरे धीरे मरने के बाद आत्मा घर को छोडती हैं.

Marne-ke-bad-aatma-kitne-din-ghar-me-rhti-h-13-jlaya-kyo (2)

इंद्रजाल सिद्ध करने की विधि और पहचान / इंद्रजाल क्या है – इंद्रजाल घर में रखने से क्या फायदा होता है

13 दिन के बाद आत्मा कहां जाती है

13 दिन होने के पश्चात आत्मा अपने लिए नई योनि की तलाश करती हैं. नई योनि की तलाश करते करते आत्मा को 47 जितने दिन लग जाते हैं. अगर किसी व्यक्ति की आकस्मिक या दुर्घटना में मृत्यु हुई है. तो ऐसी आत्मा 47 दिन से भी अधिक दिन तक धरती पर भटकती रहती हैं.

बजरंग बाण के टोटके – सम्पूर्ण जानकारी

क्या मृत्यु के बाद अपने प्रियजन से बात हो सकती है

मृत्यु के बाद अपने प्रियजन से बात तो नहीं हो सकती हैं. लेकिन मृत्यु के बाद हमारे प्रियजन हमें सुन सकते हैं. तथा कुछ इशारा या संकेत आदि भी देते हैं. जिसके बारे में हमने नीचे कुछ जानकारी प्रदान की हैं.

  • ऐसा माना जाता है की मृत्यु के बाद हमारे प्रियजन हमे सुन सकते हैं. आप उनसे मदद की प्रार्थना कर सकते हैं.
  • काफी बार आत्मा हमे कुछ आहट या खांसने की आवाज से इशारा देती हैं. जिससे हमे यह महसूस होता है. की हमारा प्रियजन हमारे आसपास ही हैं.
  • काफी बार प्रियजन असामान्य तरीके से उनकी मौजूदगी का संकेत देते हैं.
  • प्रियजन को मरने के बाद हमारे बारे में सभी जानकारी का पता चलता हैं. अगर हम प्रियजन के बारे में अच्छा सोच रहे थे. तो उन्हें पता चल जाता हैं. और अगर हम प्रियजन के बारे में कुछ गलत सोच रहे थे. तो इसके बारे में भी उनको पता चल जाता हैं. इसलिए कहां गया है की किसी के भी बारे में बुरा नहीं सोचना चाहिए. क्योंकि मरने के बाद आत्मा को सब कुछ पता चल जाता हैं.

घर में सांप निकलना शुभ होता है या अशुभ  / घर में सांप का आना क्या संकेत है

मृत्यु के बाद शव को अकेला क्यों नहीं छोड़ा जाता

गरुड़ पुराण के अनुसार मृत्यु के बाद शव को अकेला नहीं छोड़ना चाहिए. क्योंकि मृत्यु के बाद तुरंत आत्मा वहां से चली नहीं जाती हैं. वह वही पर मौजूद होती हैं. तथा अपने शरीर से थोडा बहुत जुडाव बनाए रखी होती हैं.

अगर आप मृत्यु के बाद शव को अकेला छोड़ते है. तो आत्मा को और अधिक दुख हो सकता हैं. इसलिए मृत्यु के बाद शव को अकेला नही छोड़ना चाहिए.

मनोकामना पूरी होने के संकेत कैसे मिलते है जाने

मरने के बाद जलाया क्यों जाता है

मरने के बाद सिर्फ शरीर ही बच जाता हैं. और शरीर कुछ काम का नहीं होता हैं. इसलिए शरीर को पंच तत्वों में विलीन करना जरूरी हो जाता है. इसलिए मरने के बाद शरीर को जलाया जाता हैं.

Marne-ke-bad-aatma-kitne-din-ghar-me-rhti-h-13-jlaya-kyo (1)

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है की मरने के बाद आत्मा कितने दिन घर में रहती है तथा 13 दिन के बाद आत्मा कहां जाती है. इसके अलावा इस टॉपिक से संबंधित अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ है. तो आगे जरुर शेयर करे.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह मरने के बाद आत्मा कितने दिन घर में रहती है / 13 दिन के बाद आत्मा कहां जाती है आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

तुलसी का पौधा किसी को देना चाहिए या नहीं | तुलसी का पौधा घर में लगाने के नियम 

घोर कलयुग कब आएगा जाने सब कुछ सच्च-सच्च 

क्या आपकी शादी हो चुकी है नहीं तो जाने क्या है बाधाए 

Leave a Comment