भारतीय स्टेट बैंक में पीपीएफ खाता के लाभ / पीपीएफ अकाउंट कितने साल का होता है

भारतीय स्टेट बैंक में पीपीएफ खाता के लाभ / पीपीएफ अकाउंट कितने साल का होता है – भारतीय स्टेट बैंक देश का सबसे बड़ा और सार्वजनिक बैंक माना जाता हैं. इसलिए भारतीय स्टेट बैंक से देश के काफी सारे ग्राहक जुड़े हुए हैं. भारतीय स्टेट बैंक अपनी स्कीम के माध्यम से ग्राहकों को काफी सारे लाभ भी प्रदान करता हैं. इस बैंक के द्वारा अपने ग्राहकों को ऑनलाइन पीपीएफ खाता खोलने की सुविधा दी जाती हैं.

Bhartiya-state-bank-me-ppf-khata-ke-labh-nuksan (1)

भारतीय स्टेट बैंक की यह बेहतरीन योजना मानी जाती हैं. पीपीएफ (पब्लिक प्रोविडेंट फंड) इस बैंक की स्मोल सेविंग योजना हैं. अगर आप स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया की पीपीएफ योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी चाहते हैं. तो हमारा यह आर्टिकल पूरा पढ़े.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से भारतीय स्टेट बैंक में पीपीएफ खाता के लाभ बताने वाले हैं. तथा इस टॉपिक से संबंधित अन्य और भी जानकारियां प्रदान करेगे.

तो आइये हम आपको इस बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान करते हैं.

पोस्ट ऑफिस सुकन्या समृद्धि योजना डिटेल्स -सम्पूर्ण जानकारी (दस्तावेज ,लाभ ,आवेदन )

भारतीय स्टेट बैंक में पीपीएफ खाता के लाभ

भारतीय स्टेट बैंक पीपीएफ खाता के कुछ लाभ निम्नलिखित है:

  • पीपीएफ खाता में वार्षिक 5 लाख रूपये तक जमा करवा सकते हैं.
  • इस जमा पैसा पर सरकार के द्वारा इनकम टेक्स के सेक्शन 80 सी के तहत ग्राहक को छुट मिलती हैं.
  • पीपीएफ खाता के द्वारा जो भी ब्याज मिलता है. उस पर कोई भी टैक्स नहीं लगता हैं.
  • मैच्योरिटी के बाद मिलने वाली रकम पर भी कोई टैक्स नहीं लगता हैं.

इंटरनेट पर देख सकेंगे खसरा नकल व खेत का नक्शा जाने कैसे – सरल हिंदी भाषा में जाने

पीपीएफ अकाउंट के बारे में जानकारी

पीपीएफ का मतलब पब्लिक प्रोविडेंट फंड होता हैं. पीपीएफ खाता कोई भी भारतीय नागरिक खुलवा सकता हैं. अगर कोई नाबालिग है. तो वह भी पीपीएफ खाता खुलवा सकते हैं. पीपीएफ खाता हम जॉइंट में नहीं खुलवा सकते है. लेकिन हम नॉमिनी रख सकते हैं.

लकड़ी रंदा मशीन की कीमत / लकड़ी काटने और चीरने वाली मशीन की कीमत

हम पीपीएफ खाता पोस्ट ऑफिस से या बैंक से खुलवा सकते हैं. अगर किसी का एक पीपीएफ खाता है. तो दूसरा नहीं खुलवा सकते हैं. पीपीएफ खाता खुलवाने के बाद हमारे द्वारा जमा की गई राशि पर हर तीन महीने में बैंक के द्वारा ब्याज मिलता हैं.

पीपीएफ अकाउंट कैसे खोलें

अगर आप पीपीएफ खाता खुलवाना चाहते है. तो ऑनलाइन माध्यम से घर बैठे खुलवा सकते हैं. पीपीएफ खाता ऑनलाइन खुलवाने के लिए निम्नलिखित स्टेप का पालन करे:

  • स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया से पीपीएफ खाता खोलने के लिए सबसे पहले आपको SBI की https://www.onlinesbi.com/ वेबसाइट पर जाना होगा.
  • अब आपके सामने एक पेज खुलेगा. वहा आपको “रिकवेस्ट एंड इंकवायर्स टैब” पर क्लीक करना हैं. इसके बाद “न्यू पीपीएफ अकाउंट” वाले विकल्प का चयन करे.
  • इसके पश्चात “पीपीएफ खाते के लिए आवेदन करे” इस विकल्प का चयन करे.
  • इसके बाद आपसे पैन नंबर, नाम, आधार नंबर आदि मांगा जाएगा. जो सावधानी पूर्वक भर दे.
  • इसके बाद आपको शाखा का कोड डालना होगा. आप उस शाखा का कोड डाले जहां से आप खाता खुलवाना चाहते है.
  • अब नामांकित विवरण दर्ज करने के बाद सबमिट वाले बटन पर क्लिक करे.
  • अब आपको एक OTP मिलेगा उसे दर्ज कीजिए. OTP दर्ज करने के बाद “पीपीएफ खाता ऑनलाइन आवेदन प्रिंट” वाले विकल्प का चयन करे.
  • यह प्रक्रिया पूर्ण हो जाने के बाद KYC के लिए अपने दस्तावेज और पासपोर्ट साइज़ फोटो लेकर शाखा पर जाए. KYC हो जाने के बाद आपका पीपीएफ खाता खोल दिया जाएगा.

Bhartiya-state-bank-me-ppf-khata-ke-labh-nuksan (3)

कंपनी में नौकरी के लिए आवेदन पत्र कैसे लिखे | नौकरी के लिए हिंदी में आवेदन पत्र कैसे लिखे

पीपीएफ अकाउंट के नुकसान

  • पीपीएफ खाता में अच्छा ब्याजदर नहीं मिलता हैं.
  • कभी भी ब्याजदर घटने की संभावना बनी रहती हैं.
  • आपकी जमा राशि 15 साल तक लोक हो जाती है. इसके पहले आप पैसा नहीं उठा सकते हैं.
  • एक साल में5 लाख से अधिक राशि जमा नहीं करवा सकते हैं.
  • अगर आप 500 रूपये से कम राशि जमा करवाते है. तो पेनल्टी लगती हैं.
  • एक से अधिक खाता नही खुलवा सकते हैं.

साइलो किसे कहते है हिंदी में बताइए उत्तर दीजिए

पीपीएफ अकाउंट के नियम

  • एक से अधिक खाता नहीं खुलवा सकते है.
  • साल भर में सिर्फ5 लाख तक जमा करवा सकते हैं.
  • 500 रूपये से कम राशि जमा करवाने पर बैंक के द्वारा पेनल्टी लगाई जाती हैं.
  • हर तीन महीने में आपको आपकी जमा राशि का ब्याज मिलता हैं.
  • जमा राशि बैंक के द्वारा 15 साल तक लोक कर दी जाती हैं.

मकान घर के बाहर का कलर कैसा होना चाहिए – सम्पूर्ण जानकारी

पीपीएफ अकाउंट कितने साल का होता है

पीपीएफ अकाउंट 15 साल का होता हैं.

कैसे ब्याज पीपीएफ पर गणना की जाती है

पीपीएफ खाते में ब्याज की गणना प्रत्येक महीने की 1 से 5 तारीख के बीच की जाती हैं. आपके खाते में 1 से 5 तारीख के बीच में जितनी राशि जमा है. उस पर ब्याज दिया जाता हैं. अगर आपने 1 से 5 तारीख के बीच में राशि जमा करवा दी. तो आपको उस राशि पर उसी महीने ब्याज मिल जाएगा. लेकिन मान लो आपने 5 तारीख के बाद 6 तारीख को राशि जमा करवाई. तो इसका ब्याज आपको अगले महीने मिलेगा.

Bhartiya-state-bank-me-ppf-khata-ke-labh-nuksan (2)

Puri duniya main kitne log hain | पूरी दुनिया में कितने लोग रहते हैं

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से भारतीय स्टेट बैंक में पीपीएफ खाता के लाभ बताए हैं. इसके अलावा इस टॉपिक से संबंधित अन्य और भी महत्व पूर्ण जानकारी प्रदान की हैं. हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह भारतीय स्टेट बैंक में पीपीएफ खाता के लाभ / कैसे ब्याज पीपीएफ पर गणना की जाती है आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

महोगनी लकड़ी की कीमत / महोगनी पेड़ की पहचान महोगनी का पेड़ कहां मिलता है

दीमक मारने का उपाय / दीमक मारने की दवा price, दवा का नाम तथा कीटनाशक

हाथ के नाख़ून पर सफ़ेद निशान का मतलब होता है 

1 thought on “भारतीय स्टेट बैंक में पीपीएफ खाता के लाभ / पीपीएफ अकाउंट कितने साल का होता है”

Leave a Comment